How to start thread making business?

If you have a question in your mind about how to start a thread-making business in 2023 and want to know about all its processes, then read this post completely.
How to start thread making business in 2023
Contents show

धागा बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? (How to start thread making business in 2023?)

कपड़े मनुष्य की बुनियादी जरूरतों में से एक हैं, और वे सुंदर दिखने और ध्यान आकर्षित करने के लिए महत्वपूर्ण हैं। कपड़े धागों से बने होते हैं, और उनके बिना उन्हें बनाना असंभव है। यही कारण है कि धागे का व्यवसाय इन दिनों अधिक लोकप्रिय हो रहा है। धागा बनाने का व्यवसाय आप बड़े शहरों और छोटे गाँवों दोनों जगह कर सकते है। यह तेजी से बढ़ने वाला उद्योग है और इसकी काफी मांग है।

धागा फ़ैक्टरी` शुरू करने में कितनी लागत लगती है?

धागा बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए आपको शुरुआत में कम से कम 5 से 6 लाख रुपये का निवेश करने की आवश्यकता होगी। इसमें कर्मचारियों की लागत, बिजली की लागत और अन्य आवश्यक व्यय जैसी चीज़ें शामिल हैं। बाद में आपको इसी बिज़नेस को आगे स्केल करने के लिए लगभग अतिरिक्त 9 लाख से 10 लाख रूपये खर्च करने की आवश्यकता हो सकती है।

धागा फ़ैक्टरी बिजनेस का प्लान कैसे तैयार करें?

  1. मार्केट रिसर्च – यह जानने का एक तरीका है कि दूसरे लोग क्या चाहते हैं, और आपके शहर/कस्बे में क्या अच्छा बिक रहा है। यह जानकारी आपको यह तय करने में मदद कर सकती है कि किस प्रकार के धागे का उत्पादन करना है और आपको अपने बाजार का फायदा कैसे उठाना है।
  2. धागे का उत्पादन करने के लिए, आपको यह तय करने की आवश्यकता होगी कि आप किस प्रकार का धागा बनाना चाहते हैं, आपको किन सामग्रियों और उपकरणों की आवश्यकता होगी, और आप धागे का उत्पादन कैसे करेंगे।
  3. आपका टारगेट वह बाज़ार हो जहाँ लोग उस प्रकार के कपड़े बनाते या खरीदते हैं जिन्हें आप बेचना चाहते हैं।
  4. आपको यह तय करने की आवश्यकता होगी कि आप अपना धागा किसे बेचेंगे, जैसे थोक या खुदरा व्यापारियों के माध्यम से।
  5. अपनी स्टार्टअप लागतों का निर्धारण जैसे – मशीन, सामग्री, लेबर और अन्य खर्चों की लागत का अनुमान सही से लगाएं।
  6. आप अपनी वित्तीय स्थिति का अनुमान लगाने में मदद करने के लिए एक वित्तीय योजना बनाना बनाये जिसमे आपकी आय, बैलेंस शीट और कैश फ्लो स्टेटमेंट शामिल हो।
  7. आपकी मार्केटिंग रणनीति में यह तय करना जरूर शामिल हो कि आप अपने धागा फ़ैक्टरी और उत्पादों को मार्केट में कैसे बढ़ावा देंगे। इसमें एडवरटाइजिंग, पब्लिक रिलेशन और वन टू वन बातचीत शामिल है।

Also Read : MSME Credit Card Scheme 2023, जानिए क्या होगा फायदा

धागा बनाने के बिजनेस से कितनी कमाई होती है?

धागा बनाने के बिजनेस से कितनी कमाई होती है? | धागा फ़ैक्टरी' शुरू करने में कितनी लागत लगती है?

  • धागे का उत्पादन एक ऐसा व्यवसाय है जिससे होने वाली कमाई कई प्रकार के कारकों पर निर्भर करती है, जैसे धागा व्यवसाय का आकार, स्थान, उत्पादित धागे का प्रकार और आपकी टारगेट की गयी मार्केट।
  • अगर आपका धागा व्यवसाय ऐसी जगह हैं जहाँ धागे की अत्यधिक डिमांड है तब आप प्रति माह कम से कम 3 लाख से 4 लाख रूपये कमा सकते हैं। और यदि आपका धागा व्यवसाय ऐसी जगह है जहाँ धागे की डिमांड कम है वहां आप प्रति माह कम से कम 60,000 से 70,000 रूपये कमा सकते हैं। और जैसे-जैसे आपका कारोबार बढ़ेगा, आपका मुनाफा भी बढ़ेगा।

धागा फ़ैक्टरी के लिये जमीन और बिल्डिंग का प्रबंध कैसे करें?

  • धागा फैक्ट्री स्थापित करने के लिए आपको एक ऐसी जगह ढूंढनी होगी जहां ट्रांसपोर्ट आसान हो और जहां बिजली और पानी की अच्छी आपूर्ति हो। श्रमिकों की उपलब्धता और टारगेट किया गया बाजार ज्यादा से ज्यादा 100 किलो मीटर की दूरी पर हो जिससे आपका ट्रांसपोर्ट चार्ज कम रहेगा।
  • फ़ैक्टरी बनाने के लिए, आपको ज़मीन ख़रीदनी या पट्टे पर लेनी होगी। और फिर सभी आवश्यक परमिट और अप्रूवल प्राप्त करने होगें।
  • आप जिस फ़ैक्ट्री का निर्माण करने जा रहे हैं, उसे किसी वास्तुकार या निर्माण कंपनी द्वारा डिज़ाइन किया जाना चाहिए। आपको धागा फैक्ट्री की जरूरतों के साथ-साथ सुरक्षा नियमों को ध्यान में रखना होगा।

धागा बनाने के बिज़नेस के लिए लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन कैसे प्राप्त करें?

  1. धागा फ़ैक्ट्री शुरू करने के लिए कई लाइसेंस और पंजीकरण प्राप्त करने की आवश्यकता होती है। यहां वे चरण दिए गए हैं जिनका आपको पालन करना होगा –
  2. व्यवसाय शुरू करने के लिए, आपको इसे रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (ROC) के पास पंजीकृत कराना होगा। तीन अलग-अलग प्रकार के व्यवसाय पंजीकरण हैं जिन्हें आप चुन सकते हैं: Proprietorship, Partnership और Private Limited Company.
  3. अपने व्यवसाय को Aadhaar MSME Portal पर पंजीकृत कराने के लिए, आपको एक ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा।
  4. किसी फैक्ट्री को कानूनी रूप से संचालित करने के लिए, आपको फैक्ट्री लाइसेंस की आवश्यकता होती है। जिसे आप अपने राज्य के कारखानों के मुख्य निरीक्षक से प्राप्त कर सकते हैं। आपकी धागा फ़ैक्ट्री, कारखाना अधिनियम, 1948 और राज्य सरकार के नियमों और विनियमों का पालन करना चाहिए।
  5. राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से pollution control clearance प्राप्त करने के लिए आपको आवेदन करना होगा। आपकी धागा फ़ैक्ट्री को प्रदूषण की रोकथाम और नियंत्रण अधिनियम, 1981 और प्रदूषण की रोकथाम और नियंत्रण अधिनियम, 1974 का पालन करना होगा।
  6. किसी विशिष्ट राज्य में एक कारखाना संचालित करने के लिए, आपको विभिन्न लाइसेंस और परमिट प्राप्त करने की आवश्यकता हो सकती है। उदाहरण के लिए, आपको ट्रेड लाइसेंस, भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) लाइसेंस और fire safety certificate की आवश्यकता होती है।
  7. GST का भुगतान करने के लिए, आपको GST पंजीकरण करने की आवश्यकता है।
  8. उस राज्य में rules and regulations का पालन करना महत्वपूर्ण है जहां कारखाना स्थित है, क्योंकि ये अन्य राज्यों के नियमों से भिन्न हो सकते हैं।

धागा बनाने के बिज़नेस के लिए मार्केट रिसर्च करें –

  • भारत में धागा उद्योग का अर्थव्यवस्था पर बड़ा प्रभाव है। इसकी कीमत करीब 4 अरब डॉलर आंकी गई है।
  • भारत में धागा निर्माण उद्योग में कई अलग-अलग कंपनियां हैं। इनमें से कुछ कंपनियां वर्धमान टेक्सटाइल्स, सोमा टेक्सटाइल्स और एस.वी. (सूती)। इन कंपनियों की भारतीय बाजार पर मजबूत पकड़ है और ये कई अन्य देशों को निर्यात भी कर रही हैं।
  • भारत में धागा निर्माण उद्योग तेजी से बढ़ रहा है क्योंकि भारत और दुनिया भर में कपड़ों की मांग बढ़ रही है। इस क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करने वाली सरकारी नीतियों के साथ-साथ लोगों को धागा खरीदने और बेचने की अनुमति देने वाले ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से इसमें मदद मिल रही है। उद्योग अपने उत्पादों को अन्य देशों में भी निर्यात करता है।

धागा बनाने के बिज़नेस के लिए मशीनरी और कच्चे माल का प्रबंध करें –

  • धागा निर्माण व्यवसाय के प्रबंधन में धागा का उत्पादन करने के लिए मशीनों और सामग्रियों के साथ काम करना शामिल है। इसमें यह सुनिश्चित करना शामिल है कि मशीनें ठीक से काम कर रही हैं और धागा और अन्य सामग्रियों की आपूर्ति है या नहीं।
  • मशीनों का रखरखाव और मरम्मत महत्वपूर्ण है ताकि वे ठीक से काम करें और उन्हें बदलने की आवश्यकता न पड़े।
  • मशीनों को सुचारू रूप से चलाने के लिए रख-रखाव और मरम्मत महत्वपूर्ण हैं। कभी-कभी इन कार्यों को एक विशिष्ट क्रम में करने की आवश्यकता होती है, इसलिए किसी को इसकी योजना बनानी पड़ती है।
  • इन्वेंट्री को प्रबंधित करने का अर्थ है कच्चे माल और आपूर्ति का सही रिकॉर्ड रखना जो हमें धागे का उत्पादन करने के लिए आवश्यक है। ताकि हमें पता चले कि हमारे पास किस चीज़ की कमी नहीं है।
  • Quality control एक प्रक्रिया है जिससे यह पता चलता है कि कंपनी द्वारा उत्पादित सामग्री और उत्पाद सही गुणवत्ता के हैं या नहीं।
  • साथ ही मशीनों के साथ काम करते समय दुर्घटनाओं को रोकना महत्वपूर्ण है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि चीजें नियोजित हों, सुरक्षा प्रक्रियाओं का पालन किया जाना चाहिए।
  • लास्ट में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि धागा निर्माण व्यवसाय में समस्या को सुलझाने के कौशल के साथ-साथ उत्पादन प्रक्रिया और उपयोग किए जाने वाले उपकरणों का ज्ञान होना महत्वपूर्ण है।

धागा बनाने के बिज़नेस के लिए रॉ मैटेरियल में निवेश करें –

भारत में एक सफल धागा व्यवसाय चलाने के लिए कच्चे माल में निवेश करना एक महत्वपूर्ण पहलू है। धागा बनाने के व्यवसाय के लिए कच्चे माल में निवेश करने की बात आती है तो यहां कुछ महत्वपूर्ण विचार दिए गए हैं:

गुणवत्ता (Quality) :

धागा बनाने के लिए उपयोग किये जाने वाले कच्चे माल की गुणवत्ता सीधा धागे की गुणवत्ता को प्रभावित करेगी। इसलिए यह जरूर सुनिश्चित करें कि कच्चा मॉल उच्च गुणवत्ता का हो।

विश्वसनीय आपूर्तिकर्ता (Reliable Suppliers) :

विश्वसनीय सप्लायर खोजना जो लगातार उच्च गुणवत्ता वाले कच्चे माल प्रदान कर सकें, व्यवसाय की सफलता के लिए महत्वपूर्ण है। कच्चे माल की स्थिर आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए सप्लायर के साथ दीर्घकालिक संबंध स्थापित करना महत्वपूर्ण है।

लागत (Cost) :

जैसा कि आप सभी को पता है कि कच्चे माल की लागत – गुणवत्ता, मात्रा और स्थान जैसे कारकों के आधार पर व्यापक रूप से भिन्न हो सकती है। कच्चे माल में निवेश करते समय लागत और गुणवत्ता के बीच संतुलन बनाना महत्वपूर्ण है।

सोर्सिंग (Sourcing) :

कच्चे माल को सोर्स करने के लिए, बाजार और उसके खिलाड़ियों की अच्छी समझ होना जरूरी है। सबसे विश्वसनीय और लागत प्रभावी सप्लायर की पहचान करें और उनके साथ अच्छे संबंध सुनिश्चित करें।

इन्वेंटरी प्रबंधन (Inventory Management) :

कच्चे माल में निवेश का मतलब यह भी है कि इन्वेंट्री प्रबंधन में निवेश करना यह सुनिश्चित करने के लिए कि जरूरत पड़ने पर कच्चे माल की सही मात्रा हाथ में हो।

अनुपालन (Compliance) :

सुनिश्चित करें कि कच्चा माल भारत में नियमों और मानकों का पालन करता है, जैसे कि पर्यावरण नियम, सुरक्षा मानक और लेबलिंग।

कुल मिलाकर, भारत में धागा बनाने के व्यवसाय के लिए कच्चे माल में निवेश करने के लिए गुणवत्ता, विश्वसनीयता, लागत, सोर्सिंग, इन्वेंट्री प्रबंधन और अनुपालन पर ध्यान देने की आवश्यकता है। इन कारकों पर सावधानीपूर्वक विचार करके और आपूर्तिकर्ताओं के साथ मजबूत संबंध बनाकर, एक धागा बनाने वाला व्यवसाय उच्च गुणवत्ता वाले कच्चे माल की स्थिर आपूर्ति सुनिश्चित कर सकता है, जो उच्च गुणवत्ता वाले धागे के उत्पादन के लिए आवश्यक है।

धागा बनाने के बिज़नेस के लिए रॉ मटेरियल कहां से खरीदना चहिये? –

धागा बनाने के बिज़नेस के लिए रॉ मटेरियल कहां से खरीदना चहिये?

  • धागा बनाने की सामग्री आपको भारत में कई जगहों पर मिल जाएगी। देखने लायक कुछ जगहों में बाज़ार और हार्डवेयर स्टोर शामिल हैं।
  • थोक बाजार एक ऐसी जगह है जहां आपको कई तरह की कपड़ा सामग्री मिल सकती है।
  • ऐसे कई ऑनलाइन खुदरा विक्रेता हैं जो भारत में कपड़ा बेचते हैं। कुछ लोकप्रिय विकल्पों में Amazon और Flipkart शामिल हैं।
  • यदि आप किसी स्थानीय निर्माता से कुछ विशिष्ट खरीदना चाहते हैं, तो आप ऐसा कर सकते हैं। यह मददगार है अगर आप किसी ऐसी चीज पर बहुत सारा पैसा खर्च नहीं करना चाहते हैं जिसकी आपको जरूरत नहीं है।
  • कई अंतरराष्ट्रीय आपूर्तिकर्ता हैं जो भारत में कच्चा माल बेचते हैं, क्योंकि भारत देश अपने कपड़ा उद्योग के लिए जाना जाता है।
  • सामग्री खरीदने से पहले उनकी गुणवत्ता और कीमतों की जांच करना और यह देखने के लिए जांचना हमेशा एक अच्छा विचार है कि सामग्री पर्यावरण के अनुकूल या जैविक के रूप में प्रमाणित है या नहीं।

Also Read : UPI ID क्या होता है

धागा बनाने के बिज़नेस में इस्तेमाल होने वाली मशीन –

धागा बनाने के व्यवसाय में कई प्रकार की मशीनरी का उपयोग किया जाता है, जिनमें शामिल हैं:

कताई मशीनें (Spinning Machines) : ये मशीनें कच्चे रेशों को घुमाकर और पतला करके धागे में बदल देती हैं। उदाहरणों में रिंग स्पिनिंग मशीन, रोटर स्पिनिंग मशीन और एयर-जेट स्पिनिंग मशीन शामिल हैं।

घुमावदार मशीनें (Winding Machines) : ये मशीनें कताई मशीनों से सूत लेती हैं और इसे बॉबिन या शंकु पर लपेटती हैं। इन मशीनो में सरल वाइंडिंग मशीन, सेक्शनल वारपिंग मशीन और क्रेल वाइंडिंग मशीन शामिल हैं।

घुमाने वाली मशीनें (Twisting Machines) : ये मशीनें एक मजबूत धागा बनाने के लिए दो या दो से अधिक धागों को एक साथ मरोड़ती हैं। इन मशीनो में टू-फॉर-वन ट्विस्टिंग मशीन, केबल्ड ट्विस्टिंग मशीन और कॉर्ड ट्विस्टिंग मशीन शामिल हैं।

रंगाई मशीनें (Dyeing Machines) : ये मशीनें विभिन्न रंगों में धागों को रंगती हैं। इन मशीनो में एग्जॉस्ट डाइंग मशीन, जिग डाइंग मशीन और पैकेज डाइंग मशीन शामिल हैं।

फिनिशिंग मशीनें (Finishing Machines) : ये मशीनें अपनी गुणवत्ता और उपस्थिति में सुधार के लिए धागे के लिए विभिन्न उपचार लागू करती हैं। इन मशीनो में सिंगिंग मशीन, मर्सराइजिंग मशीन और सैनफोराइजिंग मशीन शामिल हैं।

टेक्सचराइजिंग मशीन (Texturizing Machine) : यह मशीन विभिन्न बनावट और गुणों के साथ विभिन्न प्रकार के धागे बनाती है। इन मशीनो में फाल्स-ट्विस्ट टेक्सुराइजिंग मशीन, एयर-जेट टेक्सुराइजिंग मशीन और फ्रिक्शन टेक्सुराइजिंग मशीन शामिल हैं।

गुणवत्ता नियंत्रण उपकरण (Quality Control Equipment) : इन मशीनों का उपयोग धागे की गुणवत्ता की जांच करने के लिए किया जाता है, जैसे धागे स्ट्रेंथ टेस्टर, यार्न हेयरनेस टेस्टर और धागा अनियमितता परीक्षक।

कुल मिलाकर, धागा बनाने के व्यवसाय में उपयोग की जाने वाली विशिष्ट मशीनरी, उत्पादित होने वाले धागे के प्रकार और उपयोग की जा रही उत्पादन प्रक्रिया पर निर्भर करेगी।

धागा बनाने के बिज़नेस के लिए मशीन की कीमत –

धागे बनाने के बिजनेस के लिए मशीनों की कीमत अलग – अलग हो सकती है, यह उन मशीनों पर निर्भर करती हैं जो उपयोग में लाये जाते हैं और उनकी क्वालिटी से निर्भर करती है। उदाहरण के लिए, रिंग स्पिनिंग मशीन, रोटर स्पिनिंग मशीन, एयर-जेट स्पिनिंग मशीन, शेड्यूलिंग मशीन, एंड वाइंडिंग मशीन की कीमत करोडो में है। कुछ टेक्स्चुरिज़िंग मशीन, डाईंग मशीन, और फिनिशिंग मशीन की कीमत संभवतः लाखों में है, लेकिन सभी की कीमत उन मशीनों की क्वालिटी, ब्रांड, मॉडल और स्थान के आधार पर निर्भर रहेगी। समय-समय पर मशीनों के स्थान पर भी कीमत में अंतर हो सकता है। कुछ स्थानों पर मशीनों की कीमत सस्ती हो सकती है, जबकि कुछ स्थानों पर महंगी हो सकती है।

धागा बनाने के बिज़नेस के लिए मशीन कहां से खरीदें? –

  • मशीन निर्माताओं से खरीदें: धागा बनाने के लिए उपयुक्त मशीन निर्माताओं से खरीद सकते हैं।
  • मशीन की कंपनियों से खरीदें: कुछ कंपनियों मशीनों को स्थानीय स्तर पर बेचते हैं।
  • ऑनलाइन खरीदें: ऑनलाइन विक्रेताओं से मशीन खरीद सकते हैं।
  • स्थानीय कंपनियों से खरीदें: कई स्थानीय कंपनियों धागा बनाने के लिए उपयुक्त मशीन बेचते हैं।
  • बिक्री के माध्यम से खरीदें: कई कंपनियों नए मशीनों को बेचते हैं, परंतु स्थानीय बिक्री के माध्यम से पुराने मशीनों को भी खरीद सकते हैं।
  • सभी विकल्प के परीक्षण किये सम्बंधित कंपनी के स्थान, क्वालिटी, ब्रांड, मॉडल और स्थान के आधार पर निर्भर करें।

जब आप एक नई मशीन खरीदने के बारे में सोच रहे हों, तो अपना शोध करना और विभिन्न विकल्पों की तुलना करना महत्वपूर्ण है। आपको मशीन की गुणवत्ता, उपलब्ध ग्राहक सेवा और वारंटी पर भी विचार करना होगा।

धागा बनाने के बिज़नेस के लिए लाइसेंस के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट –

धागा बनाने के बिज़नेस के लिए लाइसेंस के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट

  1. PAN Card
  2. GST Registration
  3. MSME/SSI Registration
  4. NOC from the Local Municipal Corporation
  5. Factory License
  6. Trade License
  7. NOC from the Pollution Control Board
  8. Fire Safety Certificate
  9. Insurance
  10. Bank Account

धागा बनाने के बिज़नेस के लिए स्टाफ की आवश्यकता –

  1. Thread Making Manager
  2. Thread Making Supervisor
  3. Thread Making Technicians
  4. Quality Control Inspector
  5. Raw Material Sourcing Specialist
  6. Sales and Marketing Manager
  7. Shipping and Logistics Coordinator

धागा बनाने के बिज़नेस में रिस्क –

इस बिजनेस की काफी डिमांड है इसलिए आपको कोई भी रिस्क लेने की चिंता करने की जरूरत नहीं है। यदि आप व्यवसाय को अच्छी तरह से चलाते हैं और नए तरीकों से इसकी मार्केटिंग करते हैं, तो यह अवश्य तेजी से बढ़ेगा।

 

Also Read : गौतम अडानी की नेटवर्थ जानकर, हैरान रह जाएंगे

FAQ – frequently asked questions

धागा बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए मशीनरी कहाँ से खरीदें?

धागा बनाने की मशीनरी को आप कई स्थानों से खरीद सकते हैं जैसे कि स्थानीय मशीन बिक्रीकर्ता, ऑनलाइन बिक्रीकर्ता या इंटरनेट पर उपलब्ध मशीन सर्विस प्रोवाइडर से।

धागा बनाने की फ़ैक्ट्री के लिए कितनी बिजली चाहिए होती है?

यह पता लगाने के लिए कि धागा बनाने वाले कारखाने को कितनी बिजली की आवश्यकता है, यह कारखाने द्वारा उपयोग की जाने वाली प्रक्रिया पर निर्भर करता है। उदाहरण के लिए, कताई द्वारा धागा बनाने वाले कारखाने को बुनाई द्वारा धागा बनाने वाले कारखाने की तुलना में अधिक बिजली की आवश्यकता होती है।

धागा बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

धागा का बिजनेस शुरू करने से पहले बिजनेस, मार्केट और कॉम्पिटिशन के बारे में रिसर्च करना जरूरी है। आपको व्यवसाय शुरू करने के लिए लाइसेंस और परमिट प्राप्त करने पर भी विचार करना आना चाहिए।

धागा फ़ैक्टरी शुरू करने में कितनी लागत लगती है?

आमतौर पर एक छोटे पैमाने के कारखाने में लगभग 50 लाख - 1 करोड़ रुपये खर्च हो सकते हैं।, जबकि एक बड़े पैमाने के कारखाने में लगभग 2 से 3 करोड़ रुपये खर्च हो सकते हैं।

धागा बनाने के बिजनेस से कितनी कमाई होती है?

धागा बनाना एक ऐसा व्यवसाय है जो भारत में बहुत लाभदायक हो सकता है, लेकिन यह कहना मुश्किल है कि वास्तव में कितना पैसा कमाया जाता है क्योंकि यह अलग-अलग कंपनियों के आकार और सफलता पर निर्भर करता है। भारत दुनिया में यार्न के सबसे बड़े उत्पादकों और निर्यातकों में से एक है।

Leave a comment

eighteen − nine =